1918 में भारत में इन्फ्लुएंजा वायरस फैला था, जिसमे 1.8 करोड़ लोग मारे गए थे और पहली बार आबादी बढ़ने की दर नेगेटिव हुई थी | गाँधीजी भी संक्रमित हो गए थे और वो लिक्विड डाइट और उपवास करके सही हुए |
उस समय कोई एंटीबायोटिक नहीं थी कोई दवाई नहीं थी , जो बचे सिर्फ खुद की इम्युनिटी के कारन बचे | और इसी इन्फ्लुएंजा के कारन देश में छुआ छूत की प्रथा शुरू हुई थी | जिसको अंग्रेजो ने खूब बढ़ावा दिया

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box.

Previous Post Next Post